बिहपुर | खादी भंडार में सामाजिक न्याय आंदोलन(बिहार) नौगछिया इकाई की बैठक संपन्न ।

उक्त बैठक में तय किया कि 29 अप्रैल 2023 को मनुवादी-सांप्रदायिक-कॉरपोरेट फासीवादी हमले के खिलाफ सम्मान,हिस्सेदारी व बराबरी के लिए बहुजन संसद आयोजित होगा.
सामाजिक न्याय आंदोलन(बिहार) के स्थानीय कार्यकर्ताओं की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव लिया गया.
बहुजन संसद महात्मा फुले व डॉ.अंबेडकर की स्मृति को समर्पित होगा.

इस मौके पर सामाजिक न्याय आंदोलन(बिहार) के गौतम कुमार प्रीतम ने कहा कि भाजपा-आरएसएस व कॉरपोरेट के नरेन्द्र मोदी सरकार संविधान व लोकतंत्र पर लगातार हमला बोल रही है. लोकतंत्र की सर्वोच्च संस्था, संसद में लोकतंत्र का गला प्रतिदिन घोंटा जा रहा है. संसद महज दो लोगों का रह गया है। इस संसद को अपंग बनाया जा रहा है.

बहुजन विरोधी मनुवादी-पूंजीवादी मोदी सरकार के खिलाफ बहुजन संसद के जरिए बहुजनों के मुद्दों पर आवाज बुलंद की जाएगी.
बैठक की अध्यक्षता- मान्यवर नसीब रविदास व संचालन गौरव पासवान ने किया।

बैठक में ये रहे शामिल - मान्यवर अनील प्रसाद सिंह, पृथ्वी शर्मा, मिथिलेश कुमार सिंह, डा.बी.डी. यादव, दीपक पासवान, चतुरी शर्मा, राजेश पंडित, दीपक कुमार, पसमांदा महाज के परवेज आलम, बेद प्रकाश भारती, श्याम कुमार सक्सेशन, मिथुन पासवान, रवीन्द्र कुमार सिंह।