उम्मीदें थी काफी, परन्तु बजट जनता के उम्मीदों के विपरीत -नीलेश यादव, प्रदेश सचिव श्रमिक विकाश संगठन आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़

आम आदमी पार्टी प्रदेश सचिव नीलेश यादव ने कहा कि इस बजट से सरकार से काफी उम्मीदें थी लेकिन एक बार फिर सरकार ने महिलाओं, युवाओं ,बेरोजगारों के साथ साथ प्रदेश की जनता से छल किया है।
नीलेश यादव ने कहा कि बस्तर में टाइगर बल की बात करने वाले भूपेश सरकार को पहले बस्तर में तैनात उन पुलिस बल के बारे में सोचना चाहिए जिन्हें आज की महंगाई के दौर में महज 15 हजार रुपये महीने की पगार मिल रही है और वहीं साइकिल भत्ते के नाम पर 25 रुपये महीने दिया जा रहा है , क्या उनकी जिंदगी इतनी सस्ती है । हमें काफी उम्मीदें थी कि इस बजट में उनके लिए कुछ अच्छी घोषणा की जाएगी , लेकिन ऐसा नहीं हुआ । जिस शराबबंदी का वादा करके सत्ता में आई , कांग्रेस शराबबंदी की ओर बढ़ने के बजाय उसी शराब के व्यापार में 600 करोड़ रुपए और अधिक कमाने का लक्ष्य निर्धारित कर रही हैं। लगातार अवैध शराब बिक्री के नाम पर गुंडागर्दी बढ़ रही है , जिसमें शराब माफियों को सरकार का समर्थन प्राप्त है।

भूपेश बघेल ने इस पर कोई बात नहीं की है। एक तरफ कांग्रेस सरकार पुलिस कर्मियों को पदक देने की बात कर रही है दूसरी तरफ वही कांग्रेस के कार्यकर्ताओ द्वारा थानों में घुसकर पुलिसकर्मियों को पीटा जा रहा हैं । कांग्रेस के जन घोषणा पत्र में किये वादे में चिटफंड के द्वारा शिकार हुए लोगो के रकम लौटाने की बात की थी , उसका भी आज 2 साल हो जाने के बाद भी कोई जिक्र नही किया गया। शिक्षा के क्षेत्र में जिन शिक्षाकर्मियों को नियमित किया गया था , आज 1998 से 2008 तक जितनी भर्ती हुई थी उन सभी को आज तक न कोई पदोन्नति मिली है और न ही उन्हें समयमान वेतन दिया जा रहा है

आम आदमी पार्टी नेताओं ने इस बजट को एक व्यापारिक बजट करार दिया व कहा कि जिस बजट में आम जनता को कोई राहत नही पहुंचें, ऐसे बजट की उम्मीद नही की गई थी । आज पूरे देश के साथ प्रदेश की जनता भी पेट्रोल, डीजल के बढ़ते दामों से परेशान है यदि भूपेश सरकार आम जनता के हितों की सोचती तो इन पेट्रोल ,डीजल पर लगने वाले टैक्स पर कमी कर प्रदेश की जनता को राहत देने का काम करती ।