खैरागढ़ ।  जिला पंचायत सदस्य और सभापति विप्लव साहू ने कहा कि उपाय और बचाव के सारे संसाधन जब फेल दिख रहे हैं अब एकमात्र सहारा टीकाकरण ही है. हमारे स्वास्थ्य कर्मी जी-जान लगाकर अपना कर्तव्य निभा रहे हैं.  हालांकि टीके के दुष्प्रभाव और साइड इफ़ेक्ट के कुछ प्रकरण आये हैं लेकिन सावधानी बरता जाए तो निसंदेह इनसे बचा जा सकता है.

1 - टीकाकरण के लिए जब जाएं तब यह सुनिश्चित करें कि मानसिक रूप से मजबूत रहें.

2 -शरीर में पिछले कुछ दिनों में कोई भी तकलीफ न रहें.
3 - टीका लगवाने के बाद 2 - 4 दिन भरपूर आराम करें. श्रम न करें.
4 - गरम और पोषण से भरपूर आहार लें.
5 - जरूरत पड़ने पर डॉक्टर या टीकाकरण टीम से संपर्क करें.
आराम इसलिए जरूरी है ताकि एकाएक प्रतिरोध क्षमता के बढ़ने से हमारे सामान्य बॉडी को एडजस्ट करने में जरा वक़्त मिलता है. जिन लोगों और इलाकों में टीकाकरण हो चुका है वहां टीके के सुखद परिणाम आये हैं, उन जगहों में नए केस बहुत कम, न के बराबर कोरोना के मामले देखने को मिल रहे हैं, और वैक्सीन करा चुके लोगों में इससे उबरने की क्षमता विकसित दिखाई दे रही है. यह सुखद समाचार है.
सबकी सुरक्षा के साथ ही इससे आपके आपके परिवार, समाज और मानवता की रक्षा होगी, जिसकी जिम्मेदारी अब हम सबकी है कृपया प्रोटोकॉल का पालन करते अपने दायित्वों का निर्वहन करते रहें.